If you’re on Twitter, go ahead and follow me and say hello.

Jan 19, 2012

"तीन हिंदी हाइकू"

आइये ,
महान बनें
ज़मीन से उड़कर ,
आसमान पे चलें /

ज़िन्दगी ,
एक सीधी रेखा में ,
मृत्यु के गंतव्य की /

आ चलें !
रुकें नहीं
बहुत उलझाव है यहाँ
न देखें तो ही अच्छा
बोलें वही जो अच्छा है
सुनें वही
जो भला माना है
देश के लोगो ने तो
बापू के बंदरों को ही
सत्य माना /

1 comment:

Followers